Monday, June 18, 2018
Teri Tasveer
khwaishein

ख्वाहिशें

खामोशियों में आज हम भी गुम होकर देखेंगे, गुमनामी के अंधेरो में आज हम भी जी कर देखेंगे... क्या मज़ा आता है तुझे अपनी ख्वाहिशें मारने...

किस्मत

अगर तेरी चाहत मुझे गिराने की है तो मेरी भी फ़ितरत उठ के मुस्कराने की है... आज वक़्त तेरा है, आज़मा ले मुझे कल बारी मेरा परचम...

प्रिय कविता

यूँ तो मेरी सबसे प्रिय कविता है तू, पर शब्दो में कभी तुझे बुना नही मैने... शख़्शीयत पर तेरी किसी का दिल ना आ जाए, इसलिए कभी...

बेवक्त

वक्त भी मेरा बड़ा नाराज़ था मुझसे, उसे करीब भी लाया मेरे और बेवक्त ले भी गया..

शतरंज

उसे लगा मै गवाँ रहा था मै तो खुशियाँ कमा रहा था... खिलखिला रही थी मुझे एक बाज़ी हराकर मै भी खुश था उसकी मुस्कान जीतकर...

बारिश

आज फिर तू बूंदे बन यादो मे भिगो गयी, चाहत तो तेरे दिल मे भी थी, ना जाने फिर क्यूँ गयी...

मोम की तरह

मोमबत्ती की तरह बड़ी अकड़ मे खड़ी है तू प्रेम की तिल्ली जो लगाई मैने तो मोम की तरह पिघल जाएगी...

Block title

2FollowersFollow
0FollowersFollow
196FollowersFollow

Latest article

New Joke On Facebook

     

New Joke “Are you single?”

मेरा फ्रेंड दुखी होकर बेठा था तो मेने पूछ लिया;क्या हुआ? फ्रेंड:  एक खूबसूरत लड़की ने मुझसे रेस्टोरेन्ट में सवाल पूछा – “आर यू सिंगल ?” और मैंने...

New Joke Dr. Gulati & Alia bhatt

Dr. Gulati : अरे और कितनी देर लगाओगी तेयार होने में ? Alia : चिलाना बन्द करो । पिछले एक घण्टे से बोल रही हूँ पांच मिन्ट...