Sunday, February 17, 2019

Shayari

Chaand bhi kya ajeeb cheez hai..ZAALIM.. Bachpan mei Maamu or Jawani me Jaanu nazar aata hai..
Teri Tasveer

Teri Tasveer

Bin dekhe teri tasveer bana sakte hain, Bina mile tera haal bata sakte hain.. Hamaare pyar me itna dum hai ki tere aasu apni aankho se...
ishk

Ishk

शिद्दत पता करने चली थी तेरे इश्क की, कीमत पता चल गयी मुझे मेरे इश्क की...
zindagi

Zindagi

जाने फिर क्यूँ उलझ रही है ज़िंदगी, जाने किस मोड़ मुड रही है ज़िंदगी... मै नये पन्ने लिख रही हूँ, फिर क्यूँ पुराने पन्ने पलट रही है...
shayari

Bachpan or aaj ki Pasand

बचपन मे हम ज़ोर से रोते थे जो पसंद होता उसे पाने के लिए.. आज बड़े हो के चुपके से रोते है जो पसंद है...

Shayari

Zindagi Mai Kuch Faisle Hum Khud Lete Hai Or Kuch Humari Taqdir.. Bas Fark Sirf Itna Hai.. Taqdir Ke Faisle Hume Ras Nahi Aate Or Humare Faisle Taqdir...
maa

MAA

मुझे रोशिनी से भरे सवेरे देने के लिए, ना जाने उसने अपने वक़्त से कितने लम्हे मेरे नाम कर दिए... मेरे कदमो को बढ़ाने के लिए ना...

Block title

2FollowersFollow
0FollowersFollow
196FollowersFollow

Latest article